The Abortion Pill: The How, The Why, And Everything In-Between

While medical abortions are statistically safer than giving birth, it is important that women fully understand the process before they begin even though 98% of women who resort to medical abortion do not face any severe any complications.

उफ्फ! क्या है ये ‘नारीवादी सिद्धांत?’ आओ जाने!

नारीवाद के बारे में सभी ने सुना होगा। मगर यह है क्या? इसके दर्शन और सिद्धांत के बारे में ज्यादातर लोगों को नहीं मालूम। इसे पूरी तरह जाने और समझे बिना नारीवाद पर कोई भी बहस या विमर्श बेमानी है। नव उदारवाद के बाद भारतीय समाज में महिलाओं के प्रति आए बदलाव के बाद इन सिद्धांतों को जानना अब और भी जरूरी हो गया है।

महादेवी वर्मा: नारी-चेतना की ‘अद्वितीय विचारक’ | #IndianWomenInHistory

हिंदी साहित्य के छायावादी युग की प्रसिद्ध और प्रतिष्ठित कवियत्री महादेवी वर्मा की गद्य एवं पद्य की रचनाओं से उनके व्यक्तित्व के दो पहलू देखने को मिलते हैं|

On Airtel Boss Ad: (And We Could Have It All) Our...

Examples from the latest Airtel Boss ad and India Nooyi's statement, a deep analysis of why only women should have it all?

पितृसत्ता से कितनी आजाद हैं महिलाएं?

हमारे समाज में कई तरह की असमानताएं हैं। स्त्री और पुरुष के बीच असमानता भी उन में से एक है। आम तौर पर पितृसत्ता का प्रयोग इसी असमानता को बनाए रखने के लिए होता है। नारीवादी अध्ययन का एक नया क्षेत्र है। इसलिए नारीवादी विमर्श का पहला काम यही है कि महिलाओं को अधीन करने वाली जटिलताओं और दांवपेच को पहचाना जाए और उसे एक उचित नाम दिया जाए। बीसवीं सदी के आठवें दशक के मध्य से नारीवादी विशेषज्ञों ने ‘पितृसत्ता’ शब्द का प्रयोग किया।

What's Trending On FII?

Why Women Workers Are Protesting Against H&M

Why Women Workers Are Protesting Against H&M

H&M is the posterchild of sustainable fashion. In reality, it refuses to provide living wages to 850,000 workers around the world.
Koffee with Kringe: Can We Stop With The 'Boys Will Be Boys' Narrative Already?

Koffee with Kringe: Can We Stop With The ‘Boys Will Be Boys’ Narrative Already?

Is it time to be disillusioned and recognise the inherent homophobia and misogyny that seem to underline this show that might as well be named Koffee with Kringe?
Activist Gowsalya's Remarriage: Why Deviant Women Are Always At Fault

Activist Gowsalya’s Remarriage: Why Deviant Women Are Always At Fault

People (read: men) are angry that Gowsalya, who claimed to have loved Shankar, has married another man now.

Instagram Gallery