Thursday, October 17, 2019
औरत ही औरत की दुश्मन नहीं बल्कि सच्ची हमदर्द होती है

औरत ही औरत की दुश्मन नहीं बल्कि सच्ची हमदर्द होती है

औरत ही औरत की दुश्मन है जैसे हाथों में थमाए हुए गलत झुनझुने को बजा-बजाकर औरतों को आपस में बांटने की गलती जानबूझकर सदियों से लगातार दोहरायी गई है|
एचआईवी के संदर्भ में अन्तर्राष्ट्रीय मानवाधिकारों की संरचना

एचआईवी के संदर्भ में अन्तर्राष्ट्रीय मानवाधिकारों की संरचना

मानवाधिकार सार्वभौमिक हैं अर्थात सभी पर समान रूप से लागू होते हैं और यौन व प्रजनन स्वास्थ्य की ज़रूरतों और इच्छाएं भी एचआईवी बाधित व दूसरे लोगों में एक समान ही होती हैं|
आपात प्रसूति सेवा के रूप में गर्भसमापन

आपात प्रसूति सेवा के रूप में गर्भसमापन

अक्टूबर 2012 का, जब भारत सहित कई देशों में लोगों ने 31 साल की सविता हलाप्पनावर की मृत्यु के विरोध में प्रदर्शन करना शुरू किया|
यहाँ पीरियड के दौरान भेदभाव कर महिलाओं से छीन रहे मौलिक अधिकार

यहाँ पीरियड के दौरान भेदभाव कर महिलाओं से छीन रहे मौलिक अधिकार

पिथौरागढ़ जिले के रौतगढ़ा गाँव में गवर्नमेंट इंटर कॉलेज के रास्ते पर स्थानीय देवता का मन्दिर पड़ता है| स्थानीय लोगों का मानना है कि अगर पीरियड के दौरान लड़कियां इस रास्ते से गुजरीं तो मन्दिर अपवित्र हो जाएगा|
तंजानिया के गाँव में लड़कियां झेल रही हैं जेंडर असमानता की मार 

तंजानिया के गाँव में लड़कियां झेल रही हैं जेंडर असमानता की मार 

तंजानिया में किशोरावस्था में गर्भधारण एक बड़ी समस्या है, जहाँ करीब एक-तिहाई (28.4%) लड़कियाँ 18 साल की उम्र होने तक माँ बन जाती हैं और आधे से ज्यादा (56.4%) महिलाएं 20 साल की उम्र तक पहुंचने से पहले अपने पहले बच्चे को जन्म देती हैं|
‘युवा, सेक्स और संबंध’ से जुड़ी दूरियां जिन्हें पूरा करना बाकी है

‘युवा, सेक्स और संबंध’ से जुड़ी दूरियां जिन्हें पूरा करना बाकी है

युवा और किशोर गर्भावस्था, गर्भ-समापन, गर्भ निरोधन, यौनिक और जेंडर पहचान, रिश्तों में बातचीत, मासिकधर्म, यौनिक हिंसा और जोर ज़बरदस्ती, कलंक, डरना-धमकाना, भेदभाव के बारे में जानना चाहते हैं| पर सबसे ज्यादा वे शरीर और सेक्स के बारे में जानना चाहते हैं|
माहवारी की बात ख़ास 'पतनशील पत्नियों के नोट्स' से

माहवारी की बात ख़ास ‘पतनशील पत्नियों के नोट्स’ से

चुनाँचे आप माहवारी की मारी औरतों के पाक लिबास पर इसका एक धब्बा तक देखना गवारा नहीं कर पाते। वही तो मैंने कहा कि आपके पिछ्ड़े और तंग किस्म के खयालात अब बदल चुके हैं|
गर्भसमापन, जेंडर और अधिकार पर एकदम सटीक रही ये 'क्रिया'

गर्भसमापन, जेंडर और अधिकार पर एकदम सटीक रही ये ‘क्रिया’

प्रशिक्षण की ये सीख मेरी सबसे पसंदीदा रही जिसने मुझे एक बेहद मजबूत तर्क दिया कि ‘अपराध गर्भसमापन नहीं बल्कि लिंगचयन है’ और इसके आधार पर मैं अब कहीं भी गर्भसमापन की पैरोकारी कर सकती हूँ|
स्त्रीद्वेष से पीड़ित रहकर ‘नारी सशक्तिकरण’ कभी नहीं होगा

स्त्रीद्वेष से पीड़ित रहकर ‘नारी सशक्तिकरण’ कभी नहीं होगा

स्त्रीद्वेष का असर समाज के हर तबके में देखा जा सकता है, जिसमें #MeToo अभियान पर पत्रकार तवलीन सिंह के विचार भी जीवंत उदाहरण है|
यौन अधिकार की राजनीति में विरोधियों के आधार

यौन अधिकार की राजनीति में विरोधियों के आधार

यौनिकता और यौन स्वास्थ्य के काम का समर्थन करने के लिए मानव अधिकारों के इस्तेमाल को अक्सर नैतिकता या संस्कृति का अपमान कहते हुए विरोध किया जाता रहा है|

What's Trending On FII?

These Are The 15 Women Who Helped Draft The Indian Constitution/इन 15 महिलाओं ने भारतीय संविधान बनाने में दिया था अपना योगदान

These Are The 15 Women Who Helped Draft The Indian Constitution

On this Republic Day, let us take a look at the fifteen powerful women who helped draft the Indian Constitution.
A Playlist For Anyone Who Wants To Celebrate A Good Or Bad Day

A Playlist For Anyone Who Wants To Celebrate A Good Or Bad Day

This playlist is just a personally curated list of songs that I like to listen to on a particularly bad day or just to feel good. I hope you find a song, or better if a song finds you.
18 Indian Sportswomen Who Made A Difference In 2018

18 Indian Sportswomen Who Made A Difference In 2018

Here are 18 sportswomen in India whose achievements brought glory to our nation and we need to pay more attention to.